पृथक मिथिला राज्यक लेल संसदमे हुंकार भरलाह कीर्ति आजाद

0
415

दरभंगा, मिथिला मिरर : दरभंगाक सांसद कीर्ति आजाद २ अगस्त वृहस्पतिदिन संसदमे पृथक मिथिला राज्यक गठनकेँ  लेल संसदमे तार्किक ढंगसँ अपन बात रखलाह। कीर्ति आजाद संसदमे अपन बात रखैत बजलाह जे राज्य सरकार मिथिलाक विकास लेल किछु नै क’ रहल अछि। केंद्र प्रायोजित योजनाक लाभ सेहो दोयम दर्जाक भेट रहल अछि। मैथिली भाषा आ सांस्कृतिक संरक्षण लेल सरकार लग कुनो ठोस प्रभावशाली योजना नै छैक। मिथिलावासी विगत कतेको सालसँ मिथिलाक विकास लेल पृथक मिथिला राज्यक मांग क’ रहल छथि  जे भाषाई आ सांस्कृतिक आधार पर संवैधानिक रूपसँ न्यायसंगत अछि। लिहाजा केंद्र सरकार मिथिलाक विकास लेल अतिशीघ्र मिथिला राज्यक निर्माण पर विचार करथि। जाहिस संपूर्ण मिथिलाक विकास संभव भ’ सकय। श्री आजाद संसदमे शून्य कालक दौरान इ मुद्दा उठवैत कहलाह जे मिथिला शिक्षाक क्षेत्रमे  देश भरिमे अपन मजबूत मौजूदगी दर्ज करवैत छल मुदा आई ओ मिथिला विपन्नताक दौरसँ गुजैर रहल अछि। चीनी मिल, जुट मिल, पेपर मिल, सिल्क मिल, खादी भंडार सभ बंद पड़ल अछि। मिथिलाकेँ बैकवर्ड स्तर पर पंहुचाबयमे प्राकृतिक आपदा, बाढि आ सुखाड़क महत्वपूर्ण भूमिका अछि। बाढ़िक समस्याकेँ  कुनो स्थायी निदान सरकार लग  नै छनि। मिथिलामे पलायन एकटा अभिशाप  बनि गेल अछि। एहन परिस्थितिमे मिथिलाक विकास लेल मिथिला राज्य एकमात्र विकल्प छैक तैं सरकारके अलग मिथिला राज्य बनेबाक दिशामे हरसंभव प्रयास करबाक चाही।