भारत रंग महोत्सव मे मैथिली नाटक ‘आब मानि जाउ’ केर मंचन

    0
    369

    दिल्ली, मिथिला मिरर-मनीष झा ‘बौआभाइ’: वृहस्पति दिन राष्ट्रीय नाट्य विद्यालय दिल्ली केर एल.टी.जी सभागार मे 3 बजे आ 5:30 बजे क्रमशः दू टा शो केर सफल मंचन कएल गेल। भारत रंग महोत्सव मे विभिन्न भाषाक प्रस्तावित करीब 750 नाटकक मध्य किछु सीमित आ अंतिम चयन प्रक्रियामे मैथिली नाटकक पहिल बेर चयन एवं मंचन भेल। मैथिली रंगमंचक चर्चित संस्था मैलोरंग द्वारा स्व. अनिल चन्द्र ठाकुर लिखित ओ मैलोरंग प्रकाशन स’ प्रकाशित मैथिली उपन्यास ‘आब मानि जाउ’ केर नाट्यान्तरण मैलोरंगक रंगमंडल प्रमुख मुकेश झा द्वारा कएल गेल।

    स्त्री विमर्श पर आधारित एहि नाटकमे गरीब आ शोषित समाजक नारीकें केंद्र मे राखि तत्कालीन समयक जमींदार लोकनिक दुराचारी स्वभाव, चरित्रहीनता आ अमर्यादित बेवहारकें उजागर करैत आडम्बरी समाजक मुँह पर थापड़ मारबाक एकटा सचेष्ट प्रयास कएल गेल अछि। नारी भोग विलास मात्रक वस्तु नैं अपितु दृश्य ओ अदृश्य शक्तिक द्योतक सेहो अछि। नारी जा धरि बन्हनमे अछि ता धरि ओ शोषित अछि मुदा जहिया आत्मबल वा दृढ़संकल्पता ओकर समर्थन करब प्रारम्भ क’ देइत अछि फेर त’ ओ रणचंडी बनि प्रकट भ’ जाइछ आ एहने सन भाव देखल जाइछ एहि नाटकक आलोकमे।

    परिकल्पना आ निर्देशन छलनि प्रकाश झाक। मंच पर-बुचिया-सोनिया झा, गिरधर- मुकेश झा, कुलदेव-मनोज पाण्डे, माय-नीरा झा, कनियाँ-पूजा प्रियदर्शिनी, काकी-सोनी झा, भागीरथ बाबू-मायानन्द झा, ब’र-निखिल गुप्ता, संगी-रोशन, संजीव आ विवेक, कथावाचक -नितीश कुमार, रमण कुमार, ऋतुराज आ संजीव बिट्टू आदि। मंचक पाँछा- संगीत-अनिल मिश्र, दीपक ठाकुर आ राजीव रंजन झा, नृत्य-रमण आ पूजा, प्रकाश-श्याम साहनी आ सोनू पिलानी, उद्घोषकक भूमिकामे दीपक यात्री, सहायक निर्देशन-अमरजीत राय आदि।

    विगत दस बर्खमे दिल्ली प्रवासी रंगप्रेमीक संख्यामे एतेक वृद्धि भ’ चुकल अछि जे एहि नाटकमे क्रमशः 50, 100, 200 आ 300 टाकाक टिकट द्वारा प्रवेश रहलाक बावजूदो नाटकक मंचन दू खेपमे करब मैलोरंगक प्रति प्रेक्षकक सिनेहकेँ दर्शाबैत अछि।