मुक्तधारा ऑडिटोरियममे संपन्न भेल मैलोरंग द्वारा मंचित नाटक ‘‘विलाप’’

    0
    11

    दिल्ली,मिथिला मिरर-मनीष झा बौआभाइः देशक राजधानी दिल्लीमे प्रवासी मैथिलजनक राजनीतिक,सांस्कृतिक एवं समाजिक स्तर पर समान रूपेँ हस्तक्षेप देखल जाइछ। कला-संस्कृतिमे नियमित संलग्नता हेतु चर्चित मैथिली रंगमंचक सक्रिय संस्था “मैलोरंग रेपर्टरी” केर रंगकर्मी द्वारा २० अप्रैल २०१७ (वृहस्पति) क’ मैथिली नाटक “विलाप” मुक्तधारा ऑडिटोरियम,भाई वीर सिंह मार्ग,गोल मार्केट,नई दिल्ली मे सफलतापूर्वक मंचन कएल गेल। नाटक वैद्यनाथ मिश्र यात्री (बाबा नागार्जुन) रचित बाल विवाह ओ वैधव्य जीवन सन कारुणिक परिस्थिति पर आधारित कविता “विलाप” जकर नाटकीय लेखन केने छथि प्रसिद्ध नाटककार महेन्द्र मलंगिया। नाटकक निर्देशन केलनि अछि रंगकर्मी संतोष कुमार आ सहायक निर्देशन अमर जी राय। संतोष कुमार एवं अमर जी राय दुन्नू प्रशिक्षित अभिनेता छथि आ हिनका लोकनिक निर्देशकीय प्रयास ततबे सराहनीय। नाटकक विषय तत्कालीन समाजक रूढ़िवादिता पर अनेकानेक प्रश्न ठाढ़ करैत लिखल गेल अछि। कनियाँ पुतरा खेलबाक वयसमे बाल विवाह, यौवनावस्था चढ़ितहि विधवा आ तकरा बाद जीवन पर्यन्त कुत्सित समाज ओ लोकक अवहेलना केर शिकार एक अबला नारीकेँ केन्द्रमे राखि लिखल गेल एहि नाटकमे नायकक रूपमे राजीव रंजन (रॉकस्टार) अपन चरित्रकेँ स्थापित करबामे सफल रहलाह। राजीव गंदर्भ महाविद्यालय सँ संगीतक प्रशिक्षण ल’ रहलाह अछि, संगहि मैलोरंग सँ अभिनय प्रशिक्षण सेहो। निशा झा (कन्या), कन्याक पिता विपुल झा, कन्याक माए ज्योति झा, बरक पिता संजीव बिट्टू,विधवा सुधा झा आ सहयोगी पात्रमे मुकेश झा, नितीश कुमार, मनोज पाण्डे, सोनी झा, रमण कुमार, पूजा प्रियदर्शिनी, दीपक ठाकुर,संजीव कुमार एवं अन्य कलाकार लोकनिक उपस्थिति बेस उत्कृष्ट। प्रकाश श्याम सहनी आ पार्श्व गीत रंजना झाक (रेकॉर्डेड ऑडियो) स्वरमे दृश्यक हिसाबे फिट बैसैत छल। कार्यक्रमक मुख्य अतिथि वरिष्ठ रंगकर्मी सुमन कुमार एवं दिनेश खन्नाक गरिमामय उपस्थितिमे नाटक पूर्ण सफल रहल।

    LEAVE A REPLY

    Please enter your comment!
    Please enter your name here